कुमार विश्वास का प्रियंका पर वार क्यों ?

0
295
Preparing for Saffron politics?

नई दिल्ली, आम आदमी पार्टी के नेता कुमार विश्वास ने कांग्रेस अध्यक्षा श्रीमती सोनिया गांधी की पुत्री प्रियंका गांधी की एक टिप्पणी का त्वरित गति के साथ  उत्तर दिया और वह भी उस लहजे में  जो उत्तर किसी भारतीय जनता पार्टी के नेता की ओर से आना चाहिए था क्योंकि जिस संदर्भ में श्रीमती प्रियंका गांधी ने भीड़ द्वारा कथित गोहत्या के मामले में लोगों को पीटे जाने या पीट पीट कर मार डाले जाने की घटनाओं को लेकर यह बात की थी वह संदर्भ किसी भी तरह आम आदमी पार्टी की राजनीति के अनुकूल नहीं था | क्योंकि आम आदमी पार्टी भी इस बहस में विचारधारा के स्तर पर उसी छोर पर खडी है जिस छोर पर कांग्रेस खडी है|

ऐसे में कुमार विश्वास ने  जिस त्वरित गति से प्रियंका गांधी पर वार किया और उन्हें 1984 के दंगों की याद दिलाई उससे कुमार विश्वास की राजनीतिक रणनीति का पता चलता है|

आम आदमी पार्टी की ओर से राजस्थान के प्रभारी नियुक्त किये जाने के बाद भी कुमार विश्वास 2019 के लोकसभा चुनावों में स्वयं को अमेठी से लड़ने के लिए तैयार कर रहे हैं और वह भी भारतीय जनता पार्टी के अनुकूल बातें बोलकर एक विचारधारा से जुड़े लोगों के साथ अपनी नजदीकी बनाये रखना चाहते हैं ताकि लोकसभा चुनावों से ठीक पहले यदि वे भाजपा में आयें तो उनका विरोध न हो|

अभी यदि आम आदमी पार्टी छोड़कर कुमार विश्वास भारतीय जनता पार्टी में शामिल होते हैं तो न तो उन्हें उत्तर प्रदेश में भाजपा पचा पायेगी और न ही आम आदमी पार्टी छोड़ने से उनकी राजनीतिक विश्वसनीयता पर आई खरोंच 2019 में उन्हें राजनीतिक सफलता दिला पायेगी इसलिए कुमार विश्वास आम आदमी पार्टी में रहते हुए भाजपा की राजनीति करते हुए भाजपा में जाने की भूमिका तैयार कर रहे हैं|